भारतीय फसलें तथा उनका वर्गीकरण

Crops grown in India are classified into different groups based on seasons i.e Rabi, Kharif, or zaid crop, life cycle ie Annual, Biennials and Pereinnials, and Economy.

 1. Season Based Classification of Crops (ऋतु आधारित फसल वर्गीकरण)

ख‍रीफ फसले (Kharif Crops)

Paddy (धान), Millet (बाजरा) , Maize (मक्‍का), Cotton (कपास), Ground nut (मूँगफली), Sweet potato (शकरकन्‍द), Black gram (उर्द), Green gram (मूँग) , Cowpea (लोबिया), Sorghum ( ज्‍वार), Sesame (तिल), Guar ( ग्‍वार), Jute (जूट), Sunn (सनई), Peogenpea (अरहर), Danch ( ढैंचा), Sugarcane (गन्‍ना), Soybean (सोयाबीन), Okra( भिंण्‍डी)

रबी फसलें (Rabi Crops)

Wheat (गेहूँ), Barley (जौं), Gram (चना), Mustard (सरसों), Peas (मटर), Brsim ( बरसीम), Alfalfa (रिजका), Lentil  (मसूर), Potato (आलू), Tobacco (तम्‍बाकू), Lahi( लाही), Jni ( जंई)

जायद फसले (Zaid Crops)

Pumpkin (कद्दू), Muskmelon (खरबूजा), Watermelon ( तरबूज), Bottle gourd ( लौकी), Sponge gourd (तोरई),  Green gram (मूँग), Cucumber( खीरा), Chilly (मीर्च), Tomato (टमाटर), Sunflower(सूरजमूखी)

2. Life cycle based (जीवनचक्र आधारित)

एकवर्षीय (Annuals): जि‍न फसलों का पुरा जीवन चक्र एक साल मे समाप्‍त हो जाता है बीज से फूल , फूल से बीज बनने तक का चक एक सीजन मे समाप्‍त तथा उसके बाद उनके पौधे का सभी अंग जड तना आदि‍ मर जाते है। बीज डोरमैंसी के कारण अगले साल पुन: बोए जाते है।

धान, गेहूँ , चना, ढैंचा, बाजरा, मूँग, कपास, मूँगफली, सरसों,आलू, शकरकन्‍द, कद्दू, लौकी, सोयाबीन

द्विवर्षीय (Biennials): जो फसलें अपना जीवन चक्र 2 साल में पूर्ण करती है

चुक्कन्‍दर, प्‍याज

बहूवर्षीय (Perennials): जि‍न फसलों का जीवन काल कई वषो का होता है। 

गन्‍ना, नेपियर घास, रिजका, फलवाली फसलें

3. Economic based (आर्थिक आधारित)

अन्‍न या धान्‍य फसलें (Cereals)

धान, गेहूँ , जौं, चना, मक्‍का, ज्‍वार, बाजरा,

मसाले वाली फसलें (Spices)

अदरक, पुदीना, प्‍याज, लहसुन, मिर्च, धनिया, अजवाइन, जीरा, सौफ, हल्‍दी, कालीमिर्च, इलायची और तेजपात

रेशेदार फसलें (Fibres)

जूट, कपास, सनई, पटसन, ढेंचा

चारा फसलें (Fodders)

बरसीम, लूसर्न (रिजका), नैपियर घास, लोबिया, ज्‍वार

फलदार फसलें (Fruits)

आम, अमरूद, नींबू,लिचि, केला, पपीता,सेब, नाशपाती,

औषधीय फसलें (Medicinals)

पोदीना, मेंथा, अदरक, हल्‍दी, और तुलसी

तिलहनी फसलें (Oilseeds)

सरसों, अरंडी, तिल, मूँगफली,सूरजमूखी, अलसी, कुसुम, तोरिया, सोयाबीन और राई

दलहनी फसलें (Pulses)

चना, उर्द, मूँग, मटर, मसूर, अरहर, मूँगफली, सोयाबीन

जड एवं कन्‍द (Roots & Tubers)

आलू, शकरकन्‍द, अदरक, गाजर, मूली, अरबी, रतालू, टेपियोका, शलजम

उद्दीपक (Stimulants)

तमबाकू, पोस्‍त, चाय, कॉफी, धतूरा, भांग

शर्करा (Sugar)

चुकन्‍दर, गन्‍ना

Special use based (विशेष उपयोग आधारित)

अन्‍तर्वती फसले (Catch Crops)

उर्द, मूँग, चीना, लाही, सांवा, आलू

नकदी फसलें (Cash Crops)

गन्‍ना, आलू, तम्‍बाकू, कपास , मिर्च, चाय, काफी,

मृदा रदक्षक फसलें (Cover Crops)

मूँगफली, मूँग, उर्द, शकरकन्‍द, बरसीम, लूसर्न (रिजका)

हरी खाद (Green Manure)

मूँग, सनई, बरसीम, ढैचां, मोठ, मसूर,ग्‍वार, मक्‍का, लोबिया, बाजरा


Authors:

R. Verma

Tech.Officer, IARI, New Delhi