Agriculture article, Krishi articles on crops cultivation, agriculture units,disease control, hybrid seed, varieties and hybrids, cut flower, mushroom, poly house crops and agro chemicals and fertilizers, weedicide

 

कृषिसेवा एक आनलाईन मैगजीन है जि‍समें कृषि‍ से सम्‍बंधि‍त लेखों का प्रकाशन रोलि‍ंग मोड में, यानि‍ जैसे ही प्रविटियां प्राप्‍त होती है वैसे ही प्रकाशित किया जाता है।  कृषि‍सेवा, सूचना तकनीक के माध्‍यम से किसानों को खेती से संबधित जानकारी ऑनलाईन उपल्‍ब्‍ध कराती है। इस पत्रि‍का में खेती के उन्‍नत तरीके, फसलो की अच्‍छी किस्‍में, उगाने का उचि‍त समय व बीज की मात्रा तथा फसलो का बि‍मारि‍याे व कीट-पतंगों से बचाव, खेती भूमि‍ की पारम्‍परि‍क व नई माप तोल वि‍धि‍  जैसी अनेको उपयोगी जानकारी लगातार प्रकासि‍त होती हैै। 

 

आम की उन्‍न्‍त प्रजातियॉं

किस्‍म  विकास औसत उपज विशेषताऐं।

मल्‍लिका

Mallika 

भा.कृ.अनु.सं. 18 से 20 कि.ग्रा. प्रति वृक्ष (दसवें वर्ष में)  यह किस्‍म 1971 में सम्‍पूर्ण भारत के लिए अनुमादित की गई। विश्‍व में पहली बार व्‍यवसायिक उत्‍पादन के लिए विमोचित संकर किस्‍म, नियमित फलन एवं मध्‍य औजस्‍वी, बडे फल (307 ग्राम) स्‍वादिष्‍ट (24 डिग्री ब्रिक्‍स) रेशारहित एवं सुगंधित। फल पकने का समय जुलाई का तीसरा सम्‍ताह, प्रसंस्‍करण व निर्यात हेतू उपयुक्‍त यह किस्‍म पूवौतर दक्षिण व तटीय भारत के लिए अति उत्‍तम है।

 आम्रपाली

Aamrpali

 भा.कृ.अनु.सं. 15 से 20 कि.ग्रा. प्रति वृक्ष (दसवें वर्ष में)  यह किस्‍म 1979 में सम्‍पूर्ण भारत के लिए अनुमादित की गई। यह नियमित, बौनी तथा शीघ्र फलत में आने वाली संकर किस्‍म है। फल पकने का समय जुलाई का तीसरा सप्‍तह। फल मध्‍यम (120-160 ग्रा) स्‍वादिष्‍ट (22.8डिग्री ब्रिक्‍स) रेशा रहीत एव्र बीटा केरोटीन (16830 माईक्रोगाम प्रति 100 ग्राम गूदा) से परिपूर्ण । यह सघन बागवानी के लिए उपयक्‍त किस्‍म है। 

पूसा अरूणिमा 

Pusa Arunima

 भा.कृ.अनु.सं.  12 से 15 कि.ग्रा. प्रति वृक्ष (दसवें वर्ष में)   यह किस्‍म 2002 में सम्‍पूर्ण भारत के लिए अनुमादित की गई। नियमित फलन एवं मध्‍य ओजस्‍बी। पौध लगाने की दूरी (6 x 6मी.) फल पकने का समाय जून के अन्‍त से जुलाई का प्रथम सप्‍ताह। फल मध्‍यम (230 से 250 ग्राम) आकर्षक लाल रंग मघ्‍यम मिठास (19.5 डिग्री बिक्‍स) घरेलू एवं अन्‍तर्राष्‍ट्रीय बाजार हेतु उपयुक्‍त पकने के बाद 10 से 15 दिनों की भण्‍डारण क्षमता।

पूसा सूर्या 

Pusa Surya

 

 भा.कृ.अनु.सं. 12 से 15 कि.ग्रा. प्रति वृक्ष (दसवें वर्ष में)  यह किस्‍म 2002 में सम्‍पूर्ण भारत के लिए अनुमादित की गई। नियमित फलन एवं मध्‍य ओजस्‍बी। फल पकने का समय मध्‍य जुलाई। फल मध्‍यम (260 से 290 ग्राम) आकर्षक सुनहरा रंग तथा मघ्‍यम मिठास (19 डिग्री बिक्‍स) घरेलू एवं अन्‍तर्राष्‍ट्रीय बाजार हेतु उपयुक्‍त पकने के बाद 10 से 12 दिनों की भण्‍डारण क्षमता।

जो ऑनलाइन है

We have 135 guests and no members online

यहां पर हिंदी भाषा में कृषि संबधित लेख प्रकाशन हेतू आमंत्रित हैं।

लेख सबमिट कैसे करें?